Urban India

कॉल फॉर पेपर्स

Volume: XXVI | Issue: 2

इस अंक में घरों में भीड़ का ग्रामीण-शहरी तुलना पर ध्‍यान दिया गया है, बैंगलोर शहर में शहरी शासन की जाँच की गई है, राष्ट्रीय शहरी परिवहन नीति के बारे में चर्चा की गई है, विशेष रूप से कोलकाता के मेट्रो स्टेशनों के आसपास के भूमि के उपयोग परिवर्तन, मानव बस्तियों के लिए योजना, नगर निगम के लेखा सुधारों के माध्‍यम से शहरी स्थानीय निकायों को मजबूत बनाने और 'भारतीय शहरों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन' विषय पर एक पुस्तक की समीक्षा की गई है।

Volume: XXVI | Issue: 1

इस प्रकाशन में मुंबई के लिए शहर के परिवर्तन के विजन, विकासशील देशों में शहरी वित्तीय प्रबंधन, कर्नाटक राज्य में शहरीकरण के पैटर्न, सार्वजनिक परिवहन के लिए नीति के मूल्य निर्धारण, बच्चे के स्वास्थ्य पर पानी की गुणवत्ता और स्वच्छता पीने के प्रभाव का अध्ययन पर चर्चा को संदर्भित किया गया है।

Volume: XXV | Issue: 2

इस अंक में महाराष्ट्र राज्य में शहरी शासन, शहरीकरण और विकास परिदृश्य के संस्थागत नवाचारों, संपत्ति कर सुधार, महिला श्रमिकों के पलायन पर चर्चा, गतिविधि के रूप में कचरा चुनना और 'पिरामिड के बॉटम का फॉर्च्यूनः लाभ के माध्यम से गरीबी उन्मूलन' की पुस्‍तक समीक्षा पर प्रकाश डाला गया है।

Volume: XXV | Issue: 1

इस अंक में शहरी क्षेत्र के भीतर पहलुओं के मल्‍टीट्यूड, महिला प्रवास के प्रकारों पर जोर देने, महाराष्‍ट्र में नगर निगम के वित्त, प्रवासियों के बीच एचआईवी/एड्स और वित्तीय सुधारों की चर्चा की गई है। इसमें मॉडल नगरपालिका कानून पर आयोजित एक क्षेत्रीय कार्यशाला से कार्यवाही और 'दिल्ली की पुनर्वास कॉलोनियों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधनः लोगों की भागीदारी और शहरी नीति का एक अध्ययन' विषय पर एक किताब की समीक्षा भी प्रस्तुत की गई है।

Volume: XXIV | Issue: 2

प्रकाशन में शहरीकरण और व्यवसाय पर महाराष्ट्र राज्य, ग्रामीण-शहरी प्रवास के कारणों पर बैंगलोर के शहर, पुनर्वास कॉलोनियों में बुनियादी सेवाओं के प्रबंधन पर दिल्ली शहर के लिए मामले का अध्ययन परिदृश्य की चर्चा की गई है। शहरी जल प्रणालियों पर एक वैचारिक प्रश्‍नों की भी जांच की गई है।

Volume: XXIV | Issue: 1

पत्रिका के इस अंक में मोटे तौर पर तीन पहलुओं पर लेखों का उल्‍लेख किया गया है। कॉमुटिंग समय के मॉडल पर दिल्ली और बोगोटा के दो दक्षिणी महानगरों का एक तुलनात्मक विश्लेषण; पंजाब राज्‍य में शहरी बुनियादी ढांचे के वित्तपोषण के लिए विकल्पों की खोज; तथा; मेरठ जिले में शहरी शासन प्रथाओं की समीक्षा की।

Pages