भारतीय संदर्भ में प्रवसन संबंधी अनुसंधान एवं कार्रवाई का सुदृढ़ीकरण तथा सामंजस्‍यता (श्रमिक)

वर्ष 2004-05 और 2009-10 की अवधि के दौरान कार्यबल भागीदारी दर में परिवर्तन के निहितार्थों पर प्रगतिरत चर्चा के आलोक में सकल घरेलू-उत्‍पाद में कम हिस्‍सेदारी, कृषि क्षेत्र में से पर्याप्‍त कार्यबल बाहर नहीं निकलने, नौकरीरहित वृद्धि की घटनाओं तथा प्रवसन पर इसकी प्रयोज्‍यताओं के कारण इंदिरा गांधी विकास अनुसंधान संस्‍थान तथा इसके अनुसंधानात्‍मक सहयोगी सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च (सीपीआर), राष्‍ट्रीय नगर कार्य संस्‍थान (रा.न.का.सं.) तथा माइग्रेशन कोएलिएशन के सदस्‍यों ने भारतीय संदर्भ में प्रवसन के संबंध में अनुसंधान तथा कार्रवाई के सुदृढ़ीकरण तथा सामंजस्‍य (श्रमिक) संबंधी परियोजना शुरू की।

इस परियोजना का लक्ष्‍य प्रवासियों, प्रवासी कामगारों तथा उनके परिवारों की आजीविका संबंधी कार्यनीतियां समझने में उन्‍नयन करना तथा प्रवासियों के अधिकारों की सुरक्षा के लिए साक्ष्‍य आधारित नीतिगत निर्धारकों को सुझाव देना एवं प्रवासियों के लिए एक अनुकूल परिवेश बनाना तथा गरीबी कम करने एवं रोजगारपरक कार्यनीतियां बनाते समय प्रवासियों के योगदान को पहचानना है।