शहरी आवास की स्थिति एवं संभावनाओं के लिए अनौपचारिक वित्‍त

Submitted by niuaadmin on 12 जनवरी 2016 - 4:29pm
Hindi

भारत में आवास में सार्वजनिक निवेश बहुत ही कम है। ऐसा अनुमान है कि ये कुल विकासमूलक निवेशों के 1.5 प्रतिशत से ज्‍यादा नहीं बैठते हैं। तथापि, सार्वजनिक संस्‍थागत क्षेत्र कुल आवास निवेशों का लगभग 20-25 प्रतिशत ही प्रदान करता है; बाकी 75-80 प्रतिशत निजी क्षेत्र द्वारा अर्थात हाउस होल्‍ड सेक्‍टर तथा अन्‍य गैर-औद्योगिक स्रोतों द्वारा प्रदान किया जाता है। इन सारे सकल अनुमानों से आवास वित्‍त बाजार के ढांचें, अपेक्षाकृत महत्‍व तथा विभिन्‍न स्रोतों के महत्‍व, आवासीय निवेशों के पर्याप्‍त अवसर और उन शर्तों एवं निबंधनों के बारे में देश में बहुत कम सूचना मिलती है जिन पर विभिन्‍न स्रोतों से आवासीय वित्‍त उपलब्‍ध होता है। अतः यह अध्‍ययन इस सूचना अंतराल को पाटने में देश में पहला सुव्‍यवस्थित प्रयास है।